हमारी पुस्तकों में आपकी रूचि के लिए धन्यवाद। कोरोनावायरस (ब्व्टप्क्-19) महामारी के कारण, इस समय हमारे पास केवल ई-पुस्तक ही डाऊनलोड करने के लिए उपलब्ध है, क्योंकि हमने पुस्तकों को मेल करना रोकना पड़ा है। यदि आप ई-पुस्तक को डाऊनलोड करते हैं और फिर भी छपी हुई पुस्तकों को प्राप्त करना चाहते है जब हम उसे फिर से मेल भेज सकते है, या आप तब तक इन्तजार करना चाहते हैं जब तक छपी हुई पुस्तकें उपलब्ध नहीं हो जाती, कृपया कुछ महीनों में हमारी वेबसाइट पर फिर से देखें।

परमेश्वर की व्यवस्था

विट्नेस ली द्वारा

सेट दो, तीसरी पुस्तक, 216 पेज।

मुफ्त मसीही पुस्तक - परमेश्वर की व्यवस्था
मुफ्त मसीही पुस्तक - परमेश्वर की व्यवस्था
मुफ्त मसीही पुस्तक - परमेश्वर की व्यवस्था
मुफ्त मसीही पुस्तक - परमेश्वर की व्यवस्था
  • परमेश्वर की व्यवस्था मनुष्य के अंदर प्रवेश करने के लिए अपनी हृदय की इच्छा को आगे ले जाना है।
  • जानें कि आज परमेश्वर का अपनी योजना को आगे ले जाना कैसे हम से सम्बंधित है।
  • अपने हृदय, प्राण, आत्मा, और प्रभु के लिए पूरे व्यक्ति को खोलने के द्वारा प्रभु की इच्छा के साथ सहयोग करना शुरू करें।
  • खोजें कि परमेश्वर के भवन निर्माण के लिए सामूहिक देह के जीवन का अनुभव कैसे करें - परमेश्वर की व्यवस्था की आखिरी परिपूर्णता।

क्या आप जानते हैं कि परमेश्वर की इच्छा, उसकी योजना और केंद्रीय कार्य क्या हैं? वे परमेश्वर की व्यवस्था के भाग हैं। इस धनी पुस्तक में, विटनेस ली बाइबल के केंद्रीय प्रकाशन का खुलासा करते हैं और कैसे हम उसकी अनंत योजना को पूरा करने के लिए व्यावहारिक रूप से मसीह के साथ सहयोग कर सकते हैं।

पीछे का कवर

"सन 1927 में वाचमैन नी ने मसीह वृद्धि और उन्नति पर अपनी आत्मिक उत्कृष्ट पुस्तक, आत्मिक मनुष्य प्रकाशित की। उस पुस्तक में नी बाइबल सम्बन्धी साधारण सत्यों को प्रस्तुत करते हैं कि मनुष्य तीन भागों से बना हुआ है-आत्मा और प्राण और देह-जो कि अपने आत्मिक जीवन में उन्नति करने के लिये विश्वासियों के लिये एक केन्द्रीय और आवश्यक प्रकाशन के रूप में जरूरी है। परमेश्वर की व्यवस्था में नी के सबसे करीबी और सबसे अधिक विश्वश्नीय सहकर्मी, विट्नेस ली, बाइबल के केन्द्रीय प्रकाशन को प्रकट करने के लिये इस नींव पर निर्माण करते हैं - कि परमेश्वर कलीसिया में अपनी पूरी अभिव्यक्ति के लिये मनुष्य के अन्दर अपने आप को प्रदान करना चाह्ता है। परमेश्वर की व्यवस्था में ली स्पष्ट रूप से दिव्य त्रिएकता के कार्य को प्रकट करते हैं और विश्वासियों को अनंत योजना को पूरा करने के लिये उसके साथ सहयोग करने के लिये व्यवहारिक मार्गों को देते हैं।"

विषय-सूची

  1. त्रिएक परमेश्वर की व्यवस्था
  2. सर्व-सम्मिलित आत्मा
  3. दिव्य आत्मा का निवास
  4. अंतर्निवास आत्मा की कुंजी
  5. परमेश्वर के व्यक्ति और मनुष्य के भाग
  6. आन्तरिक और छिपे हुए भाग
  7. आन्तरिक और छिपे हुए भागों का कार्य < Li> हृदय और आत्मा के साथ व्यवहार करना
  8. प्राण से निपटना
  9. हमारे आन्तरिक और छिपे हुए भागों की खुदाई
  10. आत्मा का प्राण से भेद करना
  11. मनुष्य और दो वृक्ष
  12. सूली और प्राण जीवन
  13. सूली के सिद्धांत
  14. पुनरुत्थान के सिद्धांत
  15. पुनरुत्थान के धन
  16. जीवन की संगति और जीवन की चेतना
  17. आत्मा में अभ्यास और प्रवेश
  18. हमारे आत्मा में छिपा हुआ मसीह
  19. त्रिभागीय मनुष्य और कलीसिया
  20. परमेश्वर के निवास स्थान का निर्माण
  21. परमेश्वर के भवन का आवरण
  22. कलीसिया-शरीर में प्रकट हुआ परमेश्वर
  23. परमेश्वर की व्यवस्था के निशान का दर्शन


दूसरों के साथ साझा करें